इसरो ने श्रीहरिकोटा से 50 प्रमोचन पूरे किए



सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एस.डी.एस.सी.), शार के प्रथम प्रमोचन पैड से 16 दिसंबर, 2015 को पी.एस.एल.वी.-सी.29 प्रमोचक राकेट के सफल उत्‍थापन ने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के इतिहास ने ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की। भारत के अंतरिक्ष-पत्‍तन से उपग्रह प्रमोचक रॉकेट का यह 50 वां प्रमोचन है। श्रीहरिकोटा इन प्रमोचक राकेटों के जरिए वांछित कक्षाओं में विभिन्‍न स्‍वदेशी एवं विदेशी उपग्रहों के अंत:क्षेपण का साक्षी रहा है।
इस संदर्भ में, 29 दिसंबर, 2015 को एस.डी.एस.सी.-शार में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें अध्‍यक्ष, इसरो तथा एस.डी.एस.सी.-शार के सेवारत एवं सेवानिवृत्‍त कर्मचारियों के साथ इसरो/अं.वि. के भूतपूर्व एवं वर्तमान वरिष्‍ठ पदाधिकारियों ने शिरकत की।
श्री आ.सी. किरणकुमार, अध्‍यक्ष, इसरो ने निर्जन द्वीप समूह से विश्‍वस्‍तरीय प्रमोचन केंद्र बनने में एस.डी.एस.सी.-शार की उत्‍पत्ति की जानकारी दी। उन्‍होंने सफल मिशनों को बनाए रखने में इसरो की टीम भावना की भूमिका के बारे में व्‍याख्‍यान प्रस्‍तुत किया।

प्रशस्ति का मार्ग
यह बहुत ही रोचक बात है कि डॉ. विक्रम ए. साराभाई एवं प्रो. सतीश धवन की दूरदर्शी सोच ने नैसर्गिक सुंदरता वाले छोटे द्वीप को विश्‍वस्‍तरीय प्रमोचन केंद्र में कैसे रूपांतरित किया। यह यात्रा प्रथम उपग्रह प्रमोचक रॉकेट एस.एल.वी.-3 के समेकन एवं प्रमोचन हेतु सुविधाओं के निर्माण के साथ शुरू हुई। शुरू में, एस.एल.वी.-3 एवं संवर्धित उपग्रह प्रमोचक राकेट (ए.एस.एल.वी.) के प्रथम पीढ़ी के प्रमोचक राकेटों के लिए स्‍वतंत्र प्रमोचन पैड की स्‍थापना की गई थी।
तत्‍पश्‍चात, प्रथम प्रमोचन पैड एवं द्वितीय प्रमोचन पैड नामक दो सर्वतोमुखी प्रमोचन पैडों की स्‍थापना की गई थी। दोनों पैडों में पी.एस.एल.वी. एवं जी.एस.एल.वी. के वर्तमान प्रचालनात्‍मक राकेटों का समेकन एवं प्रमोचन करने की सुविधा उपलब्‍ध है। द्वितीय प्रमोचन पैड अगली पीढ़ी के प्रमोचक राकेट जी.एस.एल.वी.-मार्क III के समेकन एवं प्रमोचन की आवश्‍यकताएं पूरा करने हेतु संवर्धित किया गया है। समानांतर रूप में इसरो के सभी प्रमोचक राकेटों के लिए आवश्‍यक ठोस मोटरों के उत्‍पादन हेतु सुविधाएं स्‍थापित की गई हैं।  

बदलाव के चरण
प्रमोचनों की साधारण आवृत्ति से शुरुआत करते हुए, अब हमने पिछले 6 महीनों के भीतर 4 सफल मिशनों के साथ प्रचालन के स्‍तर में एक महत्‍वपूर्ण परिवर्तन को देखा है। इसरो/अं.वि. की सभी टीमों के अथक प्रयासों से एस.डी.एस.सी.-शार से दिसंबर 2015 तक हुए प्रमोचनों को पूरा कर लिया गया है। 
पिछले दो वर्षों के दौरान, प्रतिवर्ष पाँच प्रमोचनों को पूरा किया गया तथा निकट भविष्‍य में प्रमोचन आवृत्ति को बढ़ाकर 8 मिशनों तक करने का तथा बाद में प्रति वर्ष 12 से अधिक मिशनों को पूरा करने का लक्ष्‍य बनाया गया है। भविष्‍य के इन लक्ष्‍यों को पूरा करने की ओर, दूसरे प्रमोचन पैड की ओर उपयुक्‍त अंतरापृष्‍ठ सहित, अतिरिक्‍त समेकन सुविधा के तौर पर दूसरे राकेट समुच्‍चयन भवन (एस.वी.ए.बी.) को पूरा किया जा रहा है। ठोस मोटर उपत्‍पादन तथा अन्‍य प्रमोचन बेस अवसंरचना में आवश्‍यक संवर्धनों की योजना भी बनाई जा रही है। 
श्रीहरिकोटा, भारत से प्रक्षेपण

राकेट
प्रक्षेपण दिनांक
परिणाम
1.
एस.एल.वी.-3 ई.1
10 अगस्‍त, 1979
असफल
2.
एस.एल.वी.-3 ई.2
18 जुलाई, 1980
सफल
3.
एस.एल.वी.-3 डी.1
31 मई, 1981
सफल
4.
एस.एल.वी.-3 डी.2
17 अप्रैल, 1983
सफल
5.
ए.एस.एल.वी.- डी.1
24 मार्च, 1987
असफल
6.
ए.एस.एल.वी.- डी.2
13 जुलाई, 1988
असफल
7.
ए.एस.एल.वी.- डी.3
20 मई, 1992
सफल
8.
पी.एस.एल.वी.- डी.1
20 सितंबर, 1993
असफल
9.
ए.एस.एल.वी.- डी.4
4 मई, 1994
सफल
10.
पी.एस.एल.वी.- डी.2
15 अक्‍तूबर, 1994
सफल
11.
पी.एस.एल.वी.- डी.3
21 मई, 1996
सफल
12.
पी.एस.एल.वी.- सी.1
29 सितंबर, 1997
सफल
13.
पी.एस.एल.वी.- सी.2
26 मई, 1999
सफल
14.
जी.एस.एल.वी.- डी.1
18 अप्रैल, 2001
सफल
15.
पी.एस.एल.वी.- सी.3
22 अक्‍तूबर, 2001
सफल
16.
पी.एस.एल.वी.- सी.4
12 सितंबर, 2002
सफल
17.
जी.एस.एल.वी.-डी.2
8 मई, 2003
सफल
18.
पी.एस.एल.वी.- सी.5
17 अक्‍तूबर, 2003
सफल
19.
जी.एस.एल.वी.- एफ.01
20 सितंबर, 2004
सफल
20.
पी.एस.एल.वी.- सी.6
5 मई, 2005
सफल
21.
जी.एस.एल.वी.-एफ.02
10 जुलाई, 2006
असफल
22.
पी.एस.एल.वी.- सी.7
10 जनवरी, 2007
सफल
23.
पी.एस.एल.वी.- सी.8
23 अप्रैल, 2007
सफल
24.
जी.एस.एल.वी.-एफ.04
2 सितंबर, 2007
सफल
25.
पी.एस.एल.वी.- सी.10
20 जनवरी, 2008
सफल
26.
पी.एस.एल.वी.- सी.9
28 अप्रैल, 2008
सफल
27.
पी.एस.एल.वी.- सी.11
22 अक्‍तूबर, 2008
सफल
28.
पी.एस.एल.वी.- सी.12
20 अप्रैल, 2009
सफल
29.
पी.एस.एल.वी.- सी.14
23 सितंबर, 2009
सफल
30.
जी.एस.एल.वी.- डी.3
15 अप्रैल, 2010
असफल
31.
पी.एस.एल.वी.- सी.15
12 जुलाई, 2010
सफल
32.
जी.एस.एल.वी.-एफ.06
25 दिसंबर, 2010
असफल
33.
पी.एस.एल.वी.- सी.16
20 अप्रैल, 2011
सफल
34.
पी.एस.एल.वी.- सी.17
15 जुलाई, 2011
सफल
35.
पी.एस.एल.वी.- सी.18
12 अक्‍तूबर, 2011
सफल
36.
पी.एस.एल.वी.- सी.19
26 अप्रैल, 2012
सफल
37.
पी.एस.एल.वी.- सी.21
09 सितंबर, 2012
सफल
38.
पी.एस.एल.वी.- सी.20
25 फरवरी, 2013
सफल
39.
पी.एस.एल.वी.- सी.22
01 जुलाई, 2013
सफल
40.
पी.एस.एल.वी.- सी.25
05 नवंबर, 2013
सफल
41.
जी.एस.एल.वी.- डी.5
05 जनवरी, 2014
सफल
42.
पी.एस.एल.वी.- सी.24
04 अप्रैल, 2014
सफल
43.
पी.एस.एल.वी.- सी.23
30 जून, 2014
सफल
44.
पी.एस.एल.वी.- सी.26
16 अक्‍तूबर, 2014
सफल
45.
जी.एस.एल.वी. मार्क III-X
12 दिसंबर, 2014
सफल
46.
पी.एस.एल.वी.- सी.27
28 मार्च, 2015
सफल
47.
पी.एस.एल.वी.- सी.28
10 जुलाई, 2015
सफल
48.
जी.एस.एल.वी.- डी.6
27 अगस्‍त, 2015
सफल
49.
पी.एस.एल.वी.- सी.30
28 सितंबर, 2015
सफल
50.
पी.एस.एल.वी.- सी.29
16 दिसंबर, 2015
सफल
- See more at: http://www.isro.gov.in/
Previous Post Next Post